इसी जीवन में यदि सफल होना चाहते है तो इन 5 बातों की गाँठ बांध ले

जीवन में सफलता सभी को नहीं मिलती। बहुत से ऐसे लोग हैं, जो कहते हैं, कि वह बहुत मेहनत करते हैं, लेकिन उन्‍हें अपनी मेहनत का कभी प्रतिफल नहीं मिलता है।

लेकिन क्‍या कभी आपने सोचा है? कि ऐसी कौन सी वजह है, जिसकी वजह से आपको अपेक्षित सफलताएं चाह कर भी नहीं मिल पा रही हैं।

नहीं न, चलिए मैं बताती हूं। यह सब हमारे विद्धार्थी जीवन में की जाने वालीं गलतियों का ही परिणाम होता है। जिसकी वजह से हम अंदर से इतने कमजोर और खोखले हो जाते हैं, कि आगे चल कर न तो हम कैरियर के क्षेत्र में सफल हो पाते हैं और न ही जीवन के क्षेत्र में।

यदि आप नीचे बताई गई बातों का ध्‍यान से अध्‍ययन करेंगें, तो आप जान सकते हैं कि आपको सफलताएं क्‍यों प्राप्‍त नहीं हो रही हैं। साथ ही आप गलती करने से भी बच जाएगें।

1. नकल करके पास होने से अच्‍छा है कि फेल हो जाएं : dilsedeshi
भारत में अधिकांश छात्रों का एक ही मकसद होता है, कि कैसे भी कर के पास हो लिया जाए? लेकिन यह सोच पूरी तरह गलत है। बहुत से छात्र नकल करके परीक्षाएं पास करने का प्रयास करते हैं।

सबसे आश्‍चर्य की बात तो यह है, कि इनमें से ऐसे बहुत से छात्र प्रथम श्रेणी में पास भी हो जाते हैं। कुछ को जॉब भी मिल जाता है। लेकिन नकल करके पास हुए छात्र कभी अपने जीवन में उच्‍चतम मुकाम हासिल नहीं कर पाते हैं।

इसलिए कहा जाता है कि नकल करके पास होने से अच्‍छा है कि फेल हो जाएं। यदि आप नकल करके पास होने का प्रयास करते हैं, तो आप भले ही प्रथम श्रेणी में पास हो जाएं।

लेकिन आपकी असली क्षमता क्‍या है? यह आपको कभी ज्ञात नहीं हो पाती है। जिसकी वजह से आप हवा में ही सफलता हासिल करने के प्रयास करते हैं और इसी वजह से 90 प्रतिशत ऐसे लोग कभी जीवन में अपेक्षित सफलताएं हासिल नहीं कर पाते हैं।

2. हर बात का जवाब देने आदत खत्‍म करें :dilsedeshi
कुछ लोग अतिबुद्धिमता के शिकार होते हैं। उन्‍हें हर बात का जवाब देने की आदत होती है। ऐसे लोग किसी दूसरे की बात से न तो कभी सहमत होते हैं और न ही उनकी बातों पर विचार करते हैं। उन्‍हें लगता है कि जो वह सोचते हैं, वही सही है।

लेकिन ऐसे लोग अपने फैसले गलत तरीके से लेकर असफलता के शिकार भी होते हैं। इसलिए जरूरी है कि हर बात का जवाब देने की आदत खत्‍म की जाए।

3. छोटी मोटी नौकरी करने से अच्‍छा है कि खुद का कोई काम करें :dilsedeshi
कुछ लोग सोचते हैं कि पढ़ने लिखने के बाद सरकारी नौकरी मिल जाए। फिर वह नौकरी भले ही क्‍लर्क या चपरासी ही क्‍यों न हो? लेकिन यदि आपको जीवन में सफलताएं हासिल करनी हैं, तो छोटी मोटी नौकरी करने का विचार त्‍याग कर कुछ बड़ा करने के बारे में सोचना होगा।

4. नौकरी पाने वाला नहीं बल्कि रोजगार देने वाला बनें :dilsedeshi
कुछ लोगों की आदत होती है, सरकारी या प्राइवेट नौकरी करके लाइफ सेटल करने के बारे में ज्‍यादा सोचने की। ऐसे लोग नौकरी हासिल करके अपनी लाइफ सेटल भी कर लेते हैं।

लेकिन उनकी जिंदगी एक दायरे में सिमट कर रह जाती है। जिसकी वजह से वह अपने जीवन में किसी बड़े लक्ष्‍य को हासिल नहीं कर पाते हैं। इसलिए नौकरी पाने वाला नहीं बल्कि खुद को रोजगार देने वाला व्‍यक्ति बनाएं।

5. नौकरी करना है, तो अधिकारी बनें। क्‍लर्क बनने का कोई लाभ नहीं :dilsedeshi
बड़ा लक्ष्‍य और बड़ी सफलता हासिल करने के लिए बड़ी नौकरी या व्‍यवसाय करना पड़ता है। इसलिए यदि नौकरी करने का शौक है, तो मेरी आपको सलाह कि आप अधिकारी रैंक की नौकरी हासिल करें। नहीं तो क्‍लर्क बनने का कोई लाभ नहीं।

छोटी नौकरी करने वालों की जिंदगी सुबह 10 बजे शुरू होकर शाम 5 बजे तक खत्‍म सी हो जाती है। इसके अलावा उतना मान सम्‍मान भी नहीं मिलता जितना कि एक अधिकारी को मिलता है।

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि