मोटापा कम करने के लिए पपीता एक उत्तम विकल्प: जाने पपीता के फायदे

पपीता एक आसानी से मिल जाने वाला फल है, जो कच्चा होने पर भी उपयोगी है. पाचन तंत्र को सक्रीय करने से लेकर नेत्र ज्योति को बढ़ाने में पपीता बहुत उपयोगी फल है. आइये विस्तार से जानते है पपीता के गुणों को:

1. पपीता में कई प्रकार के पाचक एंजाइम और डाइट्री फाइबर्स होते है जो पाचक तंत्र को सक्रीय रखने में अत्यंत सहायक होते है.

2. पपीता में मोजूद फाइबर वजन घटाने में अत्यंत सहायक है. यदि आप वजन घटाने का सोच रहे है तो आज ही पपीता को अपने पाचन डाइट में शामिल कर लें.

3. पपीता में उच्च मात्रा में फाइबर, विटामिन सी और एंटीओक्सिडेंट भरपूर मात्रा में होते है जिसके कारण आपके कोलेस्ट्राल को करने में सहायक होती है.

4. पपीता में विटामिन सी के साथ विटामिन ए भी पर्याप्त मात्रा में होता है जो आपके आँखों की रौशनी और बढ़ती उम्र से जुड़ी समस्याओं के समाधान में भी सहायक है.

5. रोग प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने में भी पपीता अत्यंत सहायक है.

6. महिलाओं में पीरियड्स के दौरान दर्द की शिकायत होती है उन्हें पपीते का सेवन करना चाहिए. पपीते के सेवन से एक ओर जहां पीरियड साइकिल नियमित रहता है वहीं दर्द में भी आराम मिलता है.

7. जीरा, सेंधा नमक और नीबू का रस मिलाकर पपीते का नियमित सेवन करने से कब्ज, मंदाग्नि, अजीर्ण तथा आंतों की सूजन में काफी लाभ होता है.

8. दाँतों से खून जाता हो या दाँत हिलते हों तो पपीता खाने से ये दोनों शिकायतें हमेशा के लिए दूर हो जाती हैं.

9. बवासीर में प्रतिदिन सुबह खाली पेट पपीता खाएँ, शौच साफ होगा और बवासीर और कब्ज से छुटकारा मिलेगा, क्योंकि बवासीर का मूल कारण कब्ज ही है.

10. यकृत या प्लीहावृद्धि में कच्चे पपीते को जीरा, काली मिर्च तथा सेंधा नमक का चूर्ण छिड़क कर खाने से जल्द ही लाभ होता है.

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि