वह मुसलमान शख्स अभी भी जिन्दा है जिसने दिया था शहीद-ए-आज़म भगत सिंह को आश्रय….

एक ऐसे क्रांतिवीर है शहीद-ए-आज़म भगत सिंह, जिनकी देश के लिए दी गयी कुर्बानी आज भी आँखे नम कर देती है. भारत को स्वतंत्रा मिले 69 साल हो गए लेकिन आज भी कई ऐसे क्रांतिकारी है जिनके नाम हम हमेशा याद रखे जायेंगे. जब ऐसे क्रांतिकारियों की बात की जाएं तो शहीद-ए-आज़म भगत सिंह का… Read more

भारत में है खरबों रुपये के 6 लुप्त ख़जाने जिन्हें आज तक कोई खोज नहीं पाया

भारत के 6 लुप्त ऐसे ख़जाने जिन्हें आज तक कोई खोज नहीं पाया, भारत में खजाना लुटने के लिए दुनियाभर से कई आक्रमणकारियों ने भारत पर अनेक हमले किये, फिर भी वे खजाने को पूरी तरह से नहीं लुट पाए. भारत का स्वर्णिम अतित बहुत समृद्ध रहा है, दुनिया भर से अनेक लुटेरे जैसे… Read more

एक चादर के कारण चार क्रांतिकारियों को हुई थी फांसी की सजा

जंग-ए-आजादी की इसी कड़ी में 1925 में एक घटना घटी. यह घटना स्वतंत्रता आन्दोलन में मील का पत्थर मानी गई थी अर्थात यह एक महत्वपूर्ण घटना थी. क्रांतिकारियों ने ब्रिटिश शासन के विरुद्ध युद्ध करने के लिए आवश्यक हथियारों को खरीदने के लिए 9 अगस्त 1925 को ब्रिटिश द्वारा रेल से ले जाये जा… Read more

भागीरथी गंगा से पहले हुआ था पंच गंगा का अवतरण जानिए कैसे!!

गंगा नदी भारत की पवित्र नदीयो में से एक है गंगा नदी भारत के अलावा बांग्लादेश में भी बहती है इसकी कुल लम्बाई 2510 km है. यह उत्तरांचल में हिमालय से लेकर बंगाल की खाड़ी तक बहती है. गंगा नदी जन–जन की आस्था का आधार है. इस धरती पर गंगा नदी के आने से… Read more

इस नारी के पैरों की और देखने से ही हो गए थे युधिष्ठिर के नाख़ून काले

आप सभी महाभारत के बारे में बहुत कुछ जानते होंगे. महाभारत एक बहुत बड़ी कथा है और बड़ी होने के साथ-साथ महाभारत बहुत ही रोचक कथा भी है. शास्त्रों के अनुसार, महाभारत को पांचवा वेद कहा गया है. महाभारत के रचियता महर्षि कृष्णद्वैपायन वेदव्यास हैं. इस धर्म ग्रन्थ को शतसाहस्त्री संहिता भी कहा जाता है… Read more

यह था विश्व का सबसे प्राचीन विश्वविध्यालय जहाँ हायर टेक्नोलॉजी, एस्ट्रोलॉजी, साइकोलॉजी, लॉ आदि विषय पढ़ायें जाते थे

नालंदा विश्वविध्यालय दुनिया का सबसे पुराना और विश्वसनीय विश्वविद्यालय में से एक था. नालंदा उच्च शिक्षा का केंद्र था. इसने पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवाया था. इसकी स्थापना 450 ई. में हुई थी. नालंदा विश्वविद्यालय प्राचीन भारत का उच्च शिक्षा का बहुत ही बड़ा एवं विख्यात केंद्र था. आज भी नालंदा विश्वविद्यालय के… Read more

जानें गणेश उत्सव का एतिहासिक महत्व और गणेश चतुर्थी का इतिहास

गणेश उत्सव भाद्रपद मास की चतुर्थी से चतुर्दशी तक मनाया जाता है. प्राचीन काल में भी गणेश उत्सव का आयोजन होता था इसके प्रमाण हमे सातवाहन, राष्ट्रकूट तथा चालुक्य वंश के काल से मिलते है. गणेश उत्सव को मराठा शासक छत्रपति शिवाजी महाराज ने राष्ट्रधर्म और संस्कृति से जोड़कर एक नई शुरुआत की… Read more

अनन्य स्वामिभक्त था महाराणा प्रताप का घोड़ा चेतक

महाराणा प्रताप का प्रसिध्द नीलवर्ण घोडा चेतक उनका अत्यंत प्रिय घोड़ा था. महाराणा प्रताप के समक्ष अरबी नस्ल के तीन घोड़े एक अरब व्यापारी लेकर आया जिनके नाम चेतक, त्राटक एवं अटक थे. प्रताप ने घोड़ो का परिक्षण किया जिसमे चेतक और त्राटक सफल हुए. महाराणा ने चेतक को अपने पास रख लिया… Read more

मदनलाल ढींगरा की पूण्यतिथि पर उनके जीवन के कुछ प्रसंग पर बनी यह शोर्ट फिल्म अवश्य देखें

क्रांतिकारी मदन लाल ढींगरा का नाम आपने सुना ही होगा भारत के कुछ भूले हुए क्रांतिकारियों में उनका भी नाम उल्लेखनीय है. क्रांतिकारी मदनलाल को अंग्रेज अफसर विलियम हट कर्जन वायली की गोली मार कर हत्या करने के आरोप में 25 वर्ष की उम्र में फांसी पर चढ़ा दिया था. इस महान देशभक्त… Read more

318 किलो वजन उठा कर दौड़ने वाला दुनिया का एक मात्र पराक्रमी घोडा था चेतक

318 किलो वजन उठाकर सबसे तेज दौड़ने वाला और सबसे ऊँची छलांग लगाने वाला घोडा था महाराणा प्रताप का चेतक. एक अरबी व्यापारी तीन घोड़े लेकर महाराणा प्रताप के समक्ष प्रस्तुत हुआ जिनके नाम चेतक, त्राटक और अटक थे. राणा ने उन तीनों घोड़ो का परिक्षण किया जिसमे अटक मारा गया त्राटक और… Read more

बी आर अम्बेडकर के बारे में 9 ऐसे तथ्य जिन्हें बहुत कम लोग जानते है.

अधिकांश भारतीय बी आर अम्बेडकर को भारतीय संविधान के पितामह के रूप में जानते है और अनुसूचित जाति वाले लोगो के अधिकारों के लिए लड़ने वाला एक योद्धा. तब भी इस महान राजनेता के बारे में लोग बहुत कम जानते है. जबकि उनके समकालीनों के बारे में ज्यादा लिखा गया है. नेहरू से… Read more