अंग्रेजो ने शिवलिंग तुड़वाया, आज भी होती है उस खंडित शिवलिंग की पूजा

हिन्दू धर्म शास्त्रों और पुराणों में मूर्ति पूजा की प्रधानता है. किन्तु खंडित मूर्ति की पूजा करना वर्जित माना जाता हैं. क्योंकि खंडित मूर्ति की पूजा करने से उसका विपरीत फल प्राप्त होता है. इसीलिए किसी भी खंडित मूर्ति की पूजा नही की जाती है. यदि घर में कोई मूर्ति खंडित हो जाती है तो… Read more

श्रावण मास : क्या आप जानते है शिवलिंग पर कौन सी चीजें नहीं चढ़ानी चाहिए….

भूतभावन भगवान महादेव को देवो के देव कहा जाता है. कोई भी विपत्ति या कष्ट होने पर भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना की जाती है तो समस्त कष्टों से छुटकारा मिल जाता है. ऐसा माना जाता भगवान शिव को प्रसन्न करना बहुत ही आसान है, इसीलिए भगवान शिव भक्त से प्रसन्न होकर उनकी मनोकामनाएं भी… Read more

श्रावण मास : क्या है कांवड़ यात्रा और क्यों है इसका महत्व जानिए

भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए भक्त तरह तरह के उपाय करते है. भगवान शंकर को प्रसन्न करना बहुत ही कठिन है, जबकि भगवान शंकर बहुत ही कम समय में प्रसन्न हो जाते है. शिवजी को प्रसन्न करने के लिए भक्त कई प्रकार के पूजन पथ करते है. इसी के साथ ही शिवजी को… Read more

जानिए गणेशजी के पुत्रों के बारें में यह अद्भुत रहस्य

हिन्दू धर्म के सभी धर्म ग्रंर्थो में परमपिता भगवान शिव की महत्ता का विस्तार से वर्णन किया गया है. भगवान शिव के परिवार के बारें में हम सभी को जो जानकारी है उसके अनुसार भगवान शिव के परिवार में चार सदस्य शिव, पार्वती, गणेश, और कार्तिकेय है किन्तु देवताओं में मात्र भगवान शिव का परिवार… Read more

जानिए एक ऐसे देश के बारें में जहाँ चलती है राम नाम की मुद्रा…

भगवान श्री राम का जन्म भारत देश में हुआ है, यहीं पर उन्होंने अपने जन्म की सारी लीलाएँ की है. भगवान राम ने इसी धरा पर शास्त्र और शस्त्र की विद्या का अध्ययन किया है. भारतीय संस्कृति में भगवान श्रीराम का नाम घुला हुआ हैं. यहाँ हर कोई श्रीराम को जानता है, उनको मानता है,… Read more

अब राष्ट्र प्रेम व हिन्दू सभ्यता के जयगान से गुंजायमान होगा कनाडा : आचार्य सत्यम आर्य

“हिन्दू सांस्कृतिक केंद्र मिसिसागा” (Hindu Community Centre Mississauga) के तत्वाधान में 11 सितम्बर से 18 सितम्बर 2017 तक होने वाली ‘श्रीमद्द भागवत कथा’ की तैयारिया जोरों से चल रही है. मिसिसागा के पदाधिकारियो ने ‘डॉल्फ़िन पोस्ट ’ को बताया की इस ऐतिहासिक कथा की ख़ास बात यह है की इस कथा में श्रीमद्द भागवत कथा… Read more

भविष्य पुराण : पांडवो का जन्म कलियुग में भी हुआ था, जानिए किसने कहां और क्यों लिया था जन्म

हिन्दू धर्म ग्रंथ में अनेक पुराणों का वर्णन मिलता है. इन पुराणों में भगवान से जुड़ी कई घटनाओं का वर्णन है. इसी प्रकार भविष्य पुराण में द्रोण पुत्र अश्वत्थामा द्वारा पांडव पुत्रों के वध का तथा तत्पश्चात पांडवो द्वारा शिवजी से युद्ध का विस्तार से वर्णन किया गया है. भविष्य पुराण में यह भी बताया… Read more

सुन्दरकाण्ड : जानिए सुंदरकाण्ड का नाम सुंदरकाण्ड ही क्यों रखा गया…

रामायण के रचियता महर्षि वाल्मीकि है, रामायण एक विशाल महाकाव्य है, रामायण पर आधारित एक महाकाव्य रामचरित मानस का पंचम सोपान सुंदरकाण्ड है. इस सुंदरकाण्ड में श्री रामदूत, अंजनीपुत्र महाबली हनुमान के शौर्य का गुणगान किया गया है, सुंदरकाण्ड के नायक श्री हनुमान ही हैं. सुंदरकांड का पाठ करने से बड़ी से बड़ी समस्या का… Read more

आत्मा पुनर्जन्म : किन 8 कारणों से आत्मा लेती है पुनर्जन्म जानिए..

हिन्दू संस्कृति विश्व की सबसे विशाल संस्कृति है. हिन्दू सनातन धर्म में पुनर्जन्म जन्म को सत्य माना गया है. अर्थात हिन्दू धर्म में यह माना जाता है की किसी भी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उसका पुनः जन्म होता है. सभी आत्माएं जन्म लेती है किन्तु कौन-सी आत्मा कैसे जन्म लेती है, इसके बारे में… Read more

विदुर नीति – जानिए कब स्त्री, अन्न, योद्धा और तपस्वी की प्रशंसा करनी चाहिए.. और क्यों?

महाभारत एक हिन्दू धर्म का बहुत बड़ा महाकाव्य है. यह हिंदू धर्म का एक महान ग्रंथ है. कई विद्वानों ने महाभारत को पांचवां वेद भी कहा है. महाभारत काल में ही एक महात्मा हुए थे जिनका नाम था विदुर. उनकी कई नीतियाँ है जिनको संगठित रूप से विदुर नीति कहा जाता है. यह विदुर नीति… Read more

क्या आप जानते है पान के पत्तों से आपके चेहरे की सुन्दरता में चार चाँद लग सकते है..

हिंदू धर्म में पान के पत्तो का बहुत अधिक महत्व है. पान का उपयोग हिन्दू धर्म में अनेक प्रकार से किया जाता है. हिन्दू धर्म में पान का उपयोग हर प्रकार की पूजा-अर्चना में किया जाता है. साथ ही पान का उपयोग मेहमानों के स्वागत में भी किया जाता है. कई लोग ऐसे होते है… Read more