रावण और कुम्भकर्ण भगवान विष्णु के द्वारपाल थे, जानिए कैसे..

भगवान विष्णु के द्वारपाल जिनके नाम जय और विजय थे. उनका जन्म एक राक्षस कुल में हुआ था. उनको एक श्राप के कारण राक्षस कुल में जन्म लेना पड़ा था. उनका वध भगवान विष्णु ने ही किया था. और भगवान विष्णु के हाथ से मरकर उन्हें मोक्ष की प्राप्ति हुई. एक पौराणिक कथा के अनुसार… Read more

चाणक्य नीति: इन 5 लोगों अथवा वस्तुओं के बीच में से कभी नहीं निकलना चाहिए

आचार्य चाणक्य ने अपनी चाणक्य नीति में ऐसी कई नीतियां बताई है जिनके पालन करने से कोई भी व्यक्ति सुखी और श्रेष्ठ जीवन व्यतीत कर सकता है. यदि चाणक्य की इन नीतियों का पालन किया जाये तो हम किसी भी परेशानी से आसानी से बच सकते हैं. आचार्य चाणक्य ने सुखी जीवन के सूत्रों… Read more

मस्तक पर तिलक लगाने के पीछे है कई वैज्ञानिक लाभ.. जानें

भारतीय सनातन संस्कृति में तिलक लगाने की परम्परा सदियों पुरानी है. हिन्दू धर्म में सभी शुभ कार्यो में तिलक लगाने की परम्परा थी. किन्तु आज की पीढ़ी तिलक लगाने अच्छा नही मानती है. तिलक लगाना संस्कृति के अनुसार होता है किन्तु तिलक लगाने के पीछे वैज्ञानिक आधार भी है. टीका अर्थात तिलक लगाने के… Read more

क्या आप भी पाना चाहते है, अथाह धन-संपत्ति!! तो करें ये उपाय

हर व्यक्ति धन कमाने के लिए नित नए उपाय खोजते रहता है. और धन कमाने के कई प्रचलित उपाय भी हैं. किन्तु प्रत्येक व्यक्ति के मन में यह लालसा है कि उसे कोई ऐसा सटीक उपाय मिल जाये जो आसान भी हो और उनके द्वारा किया भी जा सके. हमारे द्वारा आपको यहां पर कुछ… Read more

विदुर नीति: ऐसे लोगों को नही होती है अच्छे-बुरे की पहचान, जानें इन 10 लोगों के बारे में

महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत ग्रंथ विश्व विख्यात है. इसकी कथा बड़ी रोचक व विस्तृत भी है. शास्त्रों में महाभारत को पांचवां वेद कहा गया है. महर्षि वेदव्यास का इस ग्रंथ के बारे में स्वयं का कथन है - यन्नेहास्ति न कुत्रचित्. अर्थात जिस विषय की चर्चा इस ग्रंथ में नहीं है, उसकी चर्चा… Read more

यदि आप भी चाहते है कि आपके घर में रिद्धि-सिद्धि का निवास हो, तो यह खबर अवश्य पढ़ें

हिन्दू धर्म में श्री गणेश को सर्वप्रथम पूजा जाता है. किसी भी धर्मिक अनुष्ठान में सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है. गणेश जी के अनेक स्वरुप में दर्शन होते है और इनके अलग-अलग स्वरूपों की पूजा करने से सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त हो जाती है. किसी भी शुभ काम की… Read more

सप्ताह के सातों दिन इन रंगों के कपड़े पहनने से खुल जाएँगे आपके किस्मत के ताले

जैसे हर दिन हमारे लिए खास होता है, वैसे ही हर रंग भी हमारे लिए खास होता है इसलिए वास्तु शास्त्र में रंगों का विशेष महत्व बताया गया है, अगर हर दिन इन रंगों के कपड़े पहनकर कार्य किया जाए तो जीवन के हर कार्य में सफलता मिलती है. आपकी कुंडली के अच्छे-बुरे ग्रह… Read more

क्या आपको भगवान श्रीराम, भरत, लक्ष्मण और शत्रुध्न के जन्म का समय, वार, तिथि, नक्षत्र की जानकारी है!

भगवान् श्रीराम, भरत, लक्ष्मण और शत्रुघ्न हम सभी के इष्ट है, हम सभी उनकी प्रतिदिन पूजा करते है किन्तु क्या आप जानते है कि इनका जन्म की तिथि क्या थी? आइये जानते है ये रोचक तथ्य: 1. भगवान श्री राम जी का जन्म 10 जनवरी 5114 ईसा पूर्व दोपहर बारह बजे हुआ था. इसे आधुनिक… Read more

श्री गणेश द्वादश नाम स्तोत्र का जप करने से गणेश जी दूर करते हैं जीवन की सारी परेशानियाँ

जैसा कि हम सब जानते हैं श्री गणेश जी विघ्नहर्ता तथा मंगलकर्ता है. अगर हम नियमित रूप से, पूर्ण मनोयोग से श्री गणेश द्वादश नाम स्तोत्र का जाप करेंगे तो हमारे जीवन की हर छोटी-बडी समस्या का निवारण हो सकता है.इस साधना का उपयोग सभी लोग अपनी हर छोटी बड़ी समस्या के निवारण हेतु कर… Read more

अर्द्धनारीश्वर शिव की महिमा और पीछे का रहस्य जाने

हमारी सृष्टि की रचना भगवान ब्रह्मा जी ने की थी. जब ब्रह्माजी द्वारा रचित मानसिक सृष्टि विस्तार नही हो पाया, तो ब्रह्माजी को बहुत दुःख हुआ. जब ब्रह्माजी विलाप कर रहे थे तभी आकाशवाणी हुई कि- ब्रह्मन्! अब मैथुनी सृष्टि की रचना करो. इस आकाशवाणी सुनकर ब्रह्माजी ने मैथुनी सृष्टि रचने का निश्चय किया इस… Read more

कैसे हुई चन्द्रमा की उत्पत्ति? कैसे हुआ बच्चों के चंदा मामा का जन्म! जानें

हिन्दू धर्म में चन्द्रमा को भी देवता माना गया है. चन्द्रमाँ बहुत ही सुन्दर, चमकीला एवं आकर्षक है. चन्द्रमा के जन्म संबंधी कहानी पुराणों में भिन्न-भिन्न मिलती है. ज्योतिष और वेदों में चन्द्रमाँ को मन का कारक माना गया है. वैदिक साहित्य में सोम का का विस्तृत वर्णन मिलता है और चन्द्रमा को भी प्रमुख… Read more