सिर्फ 1 पान के पत्ते से होगा आपकी 11 बीमारियों का पक्का इलाज, जिन्हें जान आप रह जायेंगे हैरान

दिल के आकार वाले पान के पत्ते तो आप सभी ने देखे ही होंगे।और आप में से बहुत से लोगो ने तो इसका स्वाद भी लिया होगा।पान के पत्ते को अंग्रेजी में ‘बेटल लीफ’ और संस्कृत में ‘नागवल्लरी’ या ‘सप्तशिरा’ कहते हैं। हालांकि पान का सेवन सुपारी और तम्बाकू के साथ करने से ये हमारे स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित करता है लेकिन दिल के आकार वाले पान के पत्ते औषधीय गुणों से भी भरपूर होते हैं।
ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
भारत में भोजन के उपरांत पान का सेवन बहुत ही प्रचलित है। भारत में हर गली नुक्कड़ पर पान के दूकान की मौजूदगी इस बात का सबूत है की यहाँ पान कितना पसंद किया जाता है। पूजा पाठ से लेकर पान का इस्तेमाल मिठाई बनाने तक के लिए किया जाता है।
ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्तों में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते है जिसके कारण इसका सेवन करने से ये हमारे लिए बहुत फायदेमंद होता है। पान के पत्तो के सेवन के क्या-क्या फायदे है आइये जानते है।

जल जाने पर – ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्ते को पीस कर जले हुए जगह पर लगाए।कुछ देर बाद इस पेस्ट को धो दे और वहा शहद लगा कर छोड़ दे। इससे जलने का घाव जल्दी ठीक हो जाता हैं और दर्द से भी राहत मिलता है।

गैस्ट्रिक अल्सर –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्ते के रस को पीने से गैस्ट्रिक अल्सर को रोकने में काफी मदद करता है। क्योंकि पान के पत्ते को गैस्ट्रोप्रोटेक्टिव गतिविधि के लिए भी जाना जाता है।

नाक से खून आने पर –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
बहुत से लोगो को गर्मियों में नाक से खून आने लगता है जिसे ‘नकसीर’ कहते है। गर्मियो के दिनों में नाक से खून आने पर पान के पत्ते को मसलकर सूँघे। इससे नाक से खून आना तुरंत बंद होगा और नकसीर से आराम मिलेगा।

मुँह के छाले –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj अगर आपके मुह में छाले हो गए हो तो आप पान को चबाए और बाद में पानी से कुल्ला कर ले। ऐसा दिन में 2 बार करे। आप चाहे तो ज़्यादा कत्था लगवा कर मीठा पान खा सकते हैं।इससे भी छाले जल्दी खत्म होते है।

कैंसर –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
अगर पान का इस्तेमाल जर्दा और तम्बाकू के बिना किया जाये तो यह ओरल कैंसर को भी खत्म करता है। पान के पत्ते में मौजूद एब्सकोर्बिक एसिड और अन्य एंटीऑक्सीडेंट मुंह में बन रहे हानिकारक कैंसर फ़ैलाने वाले तत्वों को नष्ट करते हैं। इसके सेवन से मुंह की दुर्गन्ध भी खत्म होती है।

आँखों के लिए फायदेमंद –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
अगर आपकी आँखे भी लाल होती है या उनमे जलन होती है तो 5-6 छोटे पान के पत्तो को ले और उन्हे एक ग्लास पानी में उबाल लें। अब इस पानी से आँखो पर छींटे मारे। इससे आँखों को काफ़ी आराम मिलेगा।

कब्ज –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्ते चबाना कब्ज के लिए भी एक कारगर इलाज है। कब्ज की स्थिति में पान के पत्ते पर अरंडी का तेल लगाकर चबाएं। इसको चबाने से कब्ज में राहत मिलती है।

खाँसी का इलाज़ –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्ते में ख़ासी को खत्म करने का भी इलाज़ वहुप हुआ है।इसके लिए पान के 15 पत्तो को लेकर 3 ग्लास पानी में डाल ले।इसके बाद, इसे तब तक उबाले, जब तक पानी उबल कर 1/3 ना रह जाए।और अब इसे दिन में कम से कम 3 बार पिए।ख़ासी से तुरंत राहत मिलेगी।

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के पत्ता का वैसे तो माउथ फेशनर की तरह इस्तेमाल किया जाता है। लेकिनजब हम इसे चबा कर खाते है तब इसका असर हमारी लार ग्रंथि पर भी पड़ता है।इससे सलाइव लार बनने में मदद मिलती है, जो कि हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत ही जरुरी है। अगर आपने भारी भोजन कर लिया है तो उसके बाद आप पान खा लें। इससे आपका भोजन आसानी से पच जाएगा।

ब्रोंकाइटिस –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
पान के 7 पत्तो को 2 कप पानी में रॉक शुगर के साथ उबाले। जब पानी एक ग्लास रह जाए तो उसे दिन में तीन बार पिए। ब्रोंकाइटिस में की समस्या ख़त्म होगी।

शरीर की दुर्गंध –ek paan ke patte se bimariyon ka ilaaj
अगर आपके शरीर से भी दुर्गंध आती है तो आप 5 पान के पत्तो को 2 कप पानी में उबाले। जब पानी एक कप रह जाए तो उस पानी को दोपहर के समय पी ले। इससे शरीर से दुर्गंध आना बंद होता है।

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि