अंडमान-निकोबार के विख्यात काला पानी की सजा से जुड़े रोचक तथ्य जानें

अडंमान-निकोबार द्वीप समूह भारत का अभिन्न अंग है, यहां हर साल लाखों टूरिस्ट छुट्टियां मनाने आते हैं. लेकिन इस द्वीप के कई ऐसे तथ्य हैं जिनके बारे में आप शायद हीं जानते होंगे. आज हम आपको अंडमान-निकोबार के कुछ ऐसे ही तथ्यों से रूबरू कराने जा रहे हैं.

1. यहां रहने वाले मूल जनजाति बाहर से आने वाले लोगों के साथ घुलते-मिलते नहीं हैं. यहां के निवासी मुख्यतः ‘जार्वा’ जनजाति से हैं. यह 500 से भी कम की संख्या में हैं और बाहरी लोगों से बिल्कुल घुलते मिलते नहीं हैं.

2. 20 के नोट पर जंगल वाला हिस्सा अंडमान द्वीप का ही है.
interesting facts about kala pani andaman nicobar

3. वैश्विक स्तर पर आइलैंड बेहद चर्चित है लेकिन आज भी इसकी कई ऐसी जगहें हैं जहां इंसान पहुंच ही नहीं सका है। इसके कुल 572 आइलैंड्स में से 36 ही जाने या बसने लायक है. निकोबार में जाने के लिए सिर्फ रिसर्च या सर्वे के लिए ही चुनिंदा लोगों को इजाजत मिलती है. टूरिस्ट के लिए यहां जाना भी मुश्किल है.

4. यहां पर सबसे ज्यादा समुद्री कछुए पाए जाते है. धरती का सबसे बड़ा कछुआ यहीं पर अपना ठिकाना बनाता है. इस कछुए का नाम Dermocheleys Coriacea है. यह साइज में बेहद बड़े होते हैं और हर साल अंडमान पहुंचते हैं. धरती का सबसे छोटा कछुआ ओलिव राइडली भी अंडमान पहुंचकर आसरा बनाता है.

5. इस द्वीप की उत्पत्ति को लेकर लोगों में तरह-तरह की मान्यताएं हैं, ऐसा माना जाता है कि अण्डमान शब्द हनुमान का एक रूप है, जो संस्कृत मूल के मलय भाषा से प्रचलित हुआ है. दरअसल, मलय में रामायण के हनुमान पात्र को हन्डुमान कहा जाता है और निकोबार का मतलब है नेकेट लोगों को लैंड.

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि