जानिए रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया को 500 और 2000 रुपए के नए नोटों की छपाई पर कितना पैसा लगाना पड़ रहा है.?

केंद्र में मोदी सरकार द्वारा लिया गया ऐतिहासिक निर्णय जिसका समर्थन जनता ने भी भरपूर किया. मोदी सरकार ने 500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद कर दिया था और उसके स्थान पर नए नोट निकाले है. यह जानने में आपकी दिलचस्पी हो सकती है कि 500 और 2000 रुपए के नए नोट की छपाई में कितना खर्च होता है. केंद्र सरकार द्वारा बुधवार को यह जानकारी दी की 500 रुपये के नए नोटों की छपाई पर 2.87 रुपये से 3.09 रुपये के मध्य और 2000 रुपये के नए नोटों की छपाई पर 3.54 रुपये से 3.77 रुपये के मध्य लागत आई है.
printing expences for new currency 500 and 2000 rupee1
500 और 2000 नोटों पर छपाई की लागत
नोटबंदी के बाद से रिज़र्व बैंक ने 500 और 2000 के नोट की लगातार छपाई की है जिससे देश में मुद्रा की कमी को दूर किया गया. केंद्र सरकार द्वारा बुधवार को यह बताया गया कि इन नोटों की छपाई में कितनी लागत आई है. उन्होंने बताया की 500 रुपये के नए नोटों की छपाई पर 2.87 रुपये से 3.09 रुपये के बीच और 2000 रुपये के नए नोटों की छपाई पर 3.54 रुपये से 3.77 रुपये के बीच लागत आई है. सरकार द्वारा बुधवार को सदन में यह जानकारी दी गई. राज्यसभा में केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने अपने लिखित जवाब द्वारा कहा कि 500 रुपये के प्रत्येक नए नोट की छपाई पर 2.87 रुपये से 3.09 रुपये के बीच और 2000 रुपये के प्रत्येक नए नोट की छपाई पर 3.54 रुपये से 3.77 रुपये के बीच लागत आई है.
printing expences for new currency 500 and 2000 rupee1
प्रचलन मुद्रा कुल 11.641 लाख करोड़ रुपये
अर्जुन राम मेघवाल ने साथ ही यह भी बताया है की चूंकि अभी तक 500 और 2000 रुपये के नए नोटों की छपाई पूरी नहीं हो पाई है, इसलिए नए नोटों की छपाई पर आने वाली कुल लागत के बारे में अभी बताना संभव नहीं है. मेघवाल ने आगे बताया कि 24 फरवरी तक देश में 500 और 2000 के नए नोटों में कुल प्रचलन मुद्रा 11.641 लाख करोड़ रुपये थी. और 10 दिसंबर 2016 तक भारतीय रिजर्व बैंक के पास कुल 12.44 लाख करोड़ रुपये राशि के पुराने नोट जमा हुए थे.

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि