क्या आप भी टॉयलेट में फ़ोन का उपयोग करते है, होती है ये गम्भीर बीमारी

स्मार्टफ़ोन चलन आजकल बहुत आम हो गया है, आजकल हर कोई व्यक्ति स्मार्टफ़ोन उपयोग करने लगा है. कुछ लोग ऐसे भी है जो स्मार्टफ़ोन के बिना एक दिन भी नही निकाल सकते है, स्मार्टफ़ोन के बिना ज़िंदगी नीरस सी लगने लगती है. ऐसे लोगों की भी कमी नही है जो टॉयलेट जाते वक़्त भी फ़ोन ले जाना नहीं भूलते और टॉयलेट में भी फ़ोन का उपयोग करते है.
toilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
ये बात भी सही है कि स्मार्टफ़ोन से हमारी ज़िंदगी पहले से कई गुना ज़्यादा आसान और स्मार्ट हो गई है, किन्तु टॉयलेट में फ़ोन का उपयोग करके हम कई घातक बिमारियों को निमंत्रण दे रहे हैं. News.com.au की रिपार्ट के अनुसार Microbiologist Professor SallyBloomfield का कहना हैं कि ज़्यादातर लोगों को यह लगता है कि सबसे ज्यादा गंदगी और किटाणु Toilet Bowl और फ़र्श पर होते हैं, किन्तु यह सच नही है इसके अतिरिक्त भी कई चीजे ऐसी है जिनके कारण बीमारियाँ उत्पन्न होती है.

Professor Bloomfield का मानना है कि यदि आप स्वस्थ्य रहना चाहते हैं, तो इन 5 आदतों में बदलाव जरुर करना चाहिए.

1. वॉशरूम में फ़ोन का उपयोगtoilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
टॉयलेट में मोबाइल का उपयोग करने में आपको सहूलियत नज़र आती होगी, किन्तु ऐसा करके आप अपने स्वास्थ्य को खतरे में डालते है.London Metropolitan University के Dr Paul Matewele का कहना हैं कि टॉयलेट में बैठने से लेकर हैंड वॉश करने तक के बीच में फ़ोन का उपयोग करना बहुत ख़तरनाक साबित हो सकता है.टॉयलेट सीट, नल, हैंडल्स और सिंक में E. coliनामक किटाणु पाए जाते हैं, जिससे UTI (Urinary Tract Infections) और आंतों से जुड़ी गंभीर समस्या हो सकती हैं. परिणाम स्वरूप आप डायरिया औरश्वसन से संबंधित बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं.

2. हैंडबैग साफ़ न करनाtoilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
हैंडबैग और पर्स का बहुत अधिक उपयोग होने के कारण उन्हें हम अक्सर हमारे पास में ही रखते है. इसी कारण हमारा बैग Norovirus, MRSA और E. coliनामक ख़तरनाक किटाणुओं से हमेशा लिप्त रहता है. ये कीटाणु कई प्रकार की बीमारियाँ पैदा करते है अतः इन बीमारीयों से बचने के लिए, आपको रोज़ाना बैग को एंटीबायोटिक क्लॉथ से अंदर तथा बाहर दोनों तरफ़ से साफ़ करना चाहिए.

3. जूते दरवाजे पर ही उतारनाtoilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
एक शोध के अनुसार, 39.7 प्रतिशत व्यक्तियों के जूतों में C.diffनाम का किटाणु पाया जाता है, यह कीटाणु डायरिया जैसी घातक बीमारी को जन्म देता है. DrMateweleका कहना है कि C.diff कीटाणु यदि गलती से भी किसी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर जाए, तो उसे गंभीर बिमारी हो सकती है.इसलिए कमरे में प्रवेश करने से पहले जूतों को कमरे के बाहर उतार देना चाहिए, इसके साथ ही यदि आप सफ़र कर रहे है तो जूतों को बैग में रखना हो तो किसी कपड़े में लपेट कर ही रखना चाहिए.

4. रिमोट से भी हो सकती है बिमारियांtoilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
DrMateweleका मानना है कि T.V. का रिमोट एक ऐसी वस्तु है जो घर का प्रत्येक सदस्य उपयोग करता है तो वो कही पर भी रखा जा सकता है. इसी कारण उसमें E. coliसहित कई घातक किटाणुओं के होने की संभावना होती है. इसीलिए जब भी आप रिमोट को उपयोग के लिए उठाए तो उसे अच्छी तरह से साफ़ कर लेना चाहिए.

5. स्पंज को ठीक से साफ़ न करनाtoilet mai phone ka upyog gambhir bimari ko saugat
साफ-सफाई के लिए उपयोग में आने वाले स्पंज पुरे घर की सफाई करते है, बर्तनों की सफाई भी करते है. इसी कारण इन स्पंज में कई प्रकार के सूक्ष्म जीवाणुओं का जन्म हो जाता है. ये स्पंज हमेशा नमी वाली जगह रखे रहने के कारण स्पंज कोसूक्ष्म जीवों के प्रजनन का आधार माना जाता है. इन सूक्ष्म जीवाणुओं से बचने के लिए स्पंज को हर माह बदलते रहना चाहिए. और उपयोग करने lसे पूर्व गर्म पानी से साफ कर लेना चाहिए.

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि