विदुर नीति: ये 6 प्रकार के लोग हमेशा रहते है दुखी.. जानिए कारण

महाभारत काल में विदुर का बहुत अधिक महत्व माना जाता है. महात्मा विदुर एक नीति कुशल व्यक्ति थे. वे अपनी नीतियों के लिए भी जाने जाते है. विदुर ने महाभारत में कई नीतियों के बारे में उल्लेख किया है. विदुर की नीतियां ऐसी थी जो न सिर्फ उस समय के लिए ही बल्कि आज के समय में भी बहुत ही उपयोगी और बहुत महत्व रखती हैं. महात्मा विदुर ने अपनी नीति में बताया है कि 6 लोग ऐसे होते है, जो की हमेशा दु:खी रहते हैं. महात्मा विदुर का कहना है की ऐसे लोग चाहे कुछ भी कर ले, किन्तु किसी न किसी वजह से वे हमेशा दुखी रहते है.
vidur niti why peoples are always sad
आइये आपको बताते है उन 6 लोगों के बारे में–
इसे भी पढ़ें: समुद्र शास्त्र – दांत भी बताते है आपके स्वभाव के बारे में ये बातें
श्लोक-

ईर्ष्यी घृणी न सन्तुष्ट: क्रोधनो नित्यशड्कित:।
परभाग्योजीवी च षडेते नित्यदु:खिता:।।

उपर्युक्त श्लोक में उन 6 लोगों के बारे में बताया गया है. जानिए कौन कौन होते है ये 6 लोग..

1. दूसरों के भाग्य पर जीवन जीने वाला
कुछ लोग आलसी तथा काम-चोर होते हैं, ये लोग स्वयं कुछ भी मेहनत नही करते है जबकि हमेशा दूसरों के भाग्य के सहारे ही अपना जीवन व्यतीत करते हैं. दुःख कभी भी ऐसे लोगों का पीछा नही छोड़ता है. इन्हें कभी भी सुख की प्राप्ति नही होती है.

2. शक करने वाला
कई लोग ऐसे होते है जो हमेशा ही शक करते रहते है. दूसरों पर शक करना उनकी आदत बन जाती है. ऐसे लोग कभी भी किसी का विश्वास नही कर सकते है. और इस प्रकार से बेवजह शक करने की आदत ही इंसान को दुखी करती है.

अगले पेज जाने के लिए Next पर क्लिक करें

loading...

दिल से देशी

राष्ट्र सर्वोपरि