तत्काल टिकट के नियम हिंदी में | Tatkal Ticket Rules, Process, Booking Timing in Hindi

तत्काल टिकट के नियम, प्रक्रिया, बुकिंग टाइम हिंदी में | Tatkal Ticket Rules, Process, Booking Timing and Refund Policy in Hindi

ऐसा कहा जाता हैं यदि भारत का विकास देखना है तो भारतीय रेलवे का विकास देखो क्योंकि भारत का आर्थिक विकास और भारतीय रेलवे का विकास आपस में जुड़ा हुआ है. भारतीय रेलवे की स्थापना से लेकर आज तक कई बार भारतीय रेलवे परिवर्तन के दौर से गुजरा है.

हर दिन 2.3 करोड़ भारतीयों को यात्रा कराने कराने वाला भारतीय रेलवे आज एशिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है. हर दिन भारत की लगभग 2% आबादी ट्रेनों में रहती है. यह इस बात का प्रमाण है कि आज भी हमारी पहली पसंद ट्रेन है.

इसी बात को देखते हुए भारतीय रेलवे ने हमें रिजर्वेशन जैसी सुविधा प्रदान की है, ताकि हम किसी भी यात्रा को बहुत ही सुगमतापूर्वक पूरी कर सके.

रिजर्वेशन के द्वारा हम अपनी टिकट की बुकिंग यात्रा से 120 दिन पहले ही करा सकते हैं जिससे हमारी सीट मिलने की सुनिश्चितता बहुत ज्यादा बढ़ जाती है. लेकिन कभी-कभी ऐसी भी परिस्थिति उत्पन्न होती है जब हमें कोई अचानक कार्य पड़ जाता है, जिसके लिए हम पहले से तैयार नहीं होते और उस कार्य हेतु हमें ट्रेन का सफ़र करना पड़ पड़ता है. इसके लिए भारतीय रेलवे ने हमें तत्काल टिकट बुकिंग से की सुविधा प्रदान की है, जिसमें हमें ट्रेन निकलने के 1 दिन पहले अपने टिकट की बुकिंग करानी पड़ती है. तत्काल टिकट बुकिंग दो माध्यमों से हो सकती है. जिसमें ऑनलाइन साइट IRCTC के द्वारा किया जा सकता है, इसके अलावा हम रेलवे स्टेशन जाकर के काउंटर से भी तत्काल टिकट की बुकिंग करा सकते हैं.
तत्काल टिकट बुकिंग सुविधा में पारदर्शिता लाने के लिए भारतीय रेलवे ने कई नियमों में बदलाव किया है.

चलिये दोस्तों आज मैं आपको तत्काल टिकट बुकिंग सुविधा के कुछ नए नियमों के बारे में बताता हूं

तत्काल टिकट बुकिंग प्रक्रिया और नियम (Tatkal Ticket Booking Process and Rules)

1. प्रतिमाह एक यूज़र आईडी सिर्फ 6 ही टिकट बुक कर सकता है.

2. यदि यूजर का अकाउंट आधार वेरिफाइड है तो वह एक माह में 12 टिकट बुक कर सकता है.

3. यदि ट्रेन अपने निर्धारित समय से 3 घंटे लेट चलती है तो यात्री अपने तत्काल टिकट की पूरा शुल्क वापस लेने के लिए आवेदन कर सकता है.

4. यदि ट्रेन का रूट बदल दिया जाता है और पैसेंजर इस रूट से यात्रा करना नहीं चाहता तो इस स्थिति में पैसेंजर अपनी टिकट का पूरा पैसा वापस लेने के लिए क्लेम कर सकता है.

5. यदि यात्री को लोअर क्लास में भेज दिया जाता है तो इस स्थिति में भी यात्री अपना पूरा पैसा लेने के लिए क्लेम कर सकता है.

6. तत्काल ऑनलाइन टिकट बुकिंग सर्विस में यात्री की पूरी जानकारी फॉर्म में भरने के लिए 25 सेकंड निर्धारित किए गए हैं.

7. इसके अलावा यूजर आईडी से पेमेंट करने हेतु 10 सेकंड निर्धारित किए गए हैं.

8. Captcha इनपुट करने के लिए 5 सेकंड निर्धारित किए गए हैं

9. वातानुकूलित श्रेणी (AC) कि टिकट बुकिंग बुकिंग का समय सुबह 10:00 बजे से चालू होता है जबकि द्वितीय श्रेणी (sleeper class) के टिकट बुकिंग होने का समय प्रातः 11:00 बजे से प्रारंभ होता है.

10. इसके अलावा एक अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है जिसमें यूज़र को ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद कुछ जरूरी जानकर कुछ जरूरी प्रश्नों का जवाब देना पड़ता है जैसे मोबाइल नंबर यूजर ID नेम आदि.

11.यदि तत्काल की टिकट कंफर्म हो जाती है और कुछ समय बाद आप उसे कैंसिल कराना चाहते हैं तो कैंसिल कराने के बाद आपको एक भी पैसा वापस नहीं मिलेगा.

इसे भी पढ़े : भारत के प्रथम सेना अध्यक्ष की नियुक्ति और उसका इतिहास

तत्काल टिकट बुकिंग समय (Tatkal Ticket Booking Time)

12. इस समय के दौरान एजेंट्स टिकट बुक नहीं करा सकते.

8:00 am to 8: 30 am

10:00 am to 10:30 am

11:00 am to 11:30 am

13. सुबह 10:00 बजे से 12:00 बजे के बीच एक यूज़र आईडी से सिर्फ दो ही टिकट बुक किए जा सकते हैं.

14. एक आईपी एड्रेस से सुबह 10:00 से 12:00 के बीच सिर्फ दो ही टिकट बुक किए जा सकते हैं.

तो दोस्तो ये कुछ नए नियम है, जो भारतीय रेलवे ने बनाये हैं. इसलिए सफर से पहले इन नियमो को जानना बहुत जरूरी है ताकि आपको किसी असुविधा का सामना न करना पड़े.

इसे भी पढ़े : वर्चुअल आधार कार्ड की पूरी जानकारी हिंदी में

इसे भी पढ़े : इन्टरनेट और इंट्रानेट की विस्तृत जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *