अलसी खाने के चमत्कारी फायदे और नुकसान | Benefits and Side effects of Flax Seed (Alasi) in Hindi

Benefits and Side effects of Flax Seed /Alasi/Linseed in Various Disease in Hindi | अलसी के बीज खाने के फायदे और इसके कुछ नुकसान की जानकारी

अलसी स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है. मनुष्य द्वारा बहुत लम्बे समय से अलसी का उपयोग स्वास्थ्य लाभ के लिए किया जा रहा हैं. आधुनिक चिकित्सा में इसे “वेज ओमेगा” के नाम से भी जाना जाता हैं. क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड, लिगनन और म्यूसिलेज पाए जाते हैं. आयुर्वेद के अनुसार यह एक आयुवर्द्धक भोजन हैं. अलसी को लेटिन भाषा में लाइनम यूज़ीटिसियम (Linum usitatissimum) कहा जाता हैं. जिसका अर्थ होता हैं “बहुत उपयोगी”. अलसी में फ्लेक्ससीड्स फाइबर और मैंगनीज, थायामिन और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स बहुत अधिक मात्रा में पाए जातें हैं. अलसी का उपयोग मुख्य रूप से कपड़ों के लिए फाइबर बनाने के लिए किया जाता हैं.

अलसी के फायदे(Benefits of Alasi in Hindi)

अलसी कैंसर के खतरे को कम करती हैं

अलसी के नियमित सेवन से ब्रेस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर और प्रोटेस्ट कैन्सर के जोखिम को कम करता हैं. अलसी के पिसे हुए बीज का सेवन आप दही के साथ मिश्रण बनाकर कर सकते हैं. अलसी के तेल का उपयोग खाना बनाने के लिए कर सकते है. जो कि कैंसर के लिए फायदेमंद हैं.

अलसी का उपयोग वजन कम करने के लिए

अलसी में पाए जाने मुख्य तत्त्व ओमेगा-3 वजन कम करने के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं. अलसी में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं. जिसको खाने से आप लंबे समय तक पेट भरे होने जैसा महसूस करते हैं. इसमें मौजूद फाइबर भूख को दबाता हैं. अलसी को पीसकर इसका सेवन दही, सूप, सलाद और फलों के रस पर छिड़ककर कर सकते हैं.

अलसी पाचन तंत्र को ठीक करती हैं

प्राचीन समय से अलसी का उपयोग कब्ज से छुटकारा पाने के लिए किया जाता रहा हैं. यह पाचन तंत्र की समस्याओं के साथ ही आँतों की सूजन को भी ठीक करता हैं. साबुत अलसी को पचाना मुश्किल होता हैं इसलिए अलसी को पाउडर के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं. यह पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का प्राकृतिक उपाय है.

इसे भी पढ़े :

अलसी का उपयोग त्वचा के लिए

अलसी में मौजूद विटामिन्स त्वचा के रूखेपन को दूर करते है. अलसी के तेल में बने आहार के नियमित सेवन से कील, मुँहासे, एक्जिमा, त्वचा एलर्जी और सनबर्न जैसे त्वचा-सम्बंधित समस्याओं से राहत मिलती हैं. ब्यूटी प्रोडक्ट जैसे फेस पैक और फेस स्क्रब बनाने में अलसी का उपयोग किया जाता हैं.

अलसी के सेवन से बढती है सेक्स क्षमता

नियमित अलसी के सेवन से शरीर के अंदर मौजूद टेस्टोस्टेरोन हार्मोन और फेरोमोन हार्मोन स्त्रावित होते हैं. जो हमारी सेक्स क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं.

अलसी के औषधीय गुण मधुमेह के लिए

अलसी मधुमेह टाइप 2 रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है. इसका नियमित सेवन से शरीर में रक्त शर्करा (suger) के स्तर को काबू में किया जा सकता हैं. परन्तु दवाइयो के साथ अलसी का प्रयोग करने से पहले डॉक्टर का परामर्श जरूर ले.

अलसी के फायदे हृदय रोग के लिए

अलसी को पीसकर दैनिक आहार में शामिल करना चाहिए. यह हृदय रोग और स्ट्रोक के खतरे को कम करने में मदद करती है और यह धमनियों में सूजन को भी कम करती है.

अलसी खाने से नुकसान (Side Effect of Alasi)

  • लो ब्लडप्रेशर के मरीजों को अलसी के सेवन से बचना चाहिए. यह उनके लिए हनिकारक हो सकता हैं.
  • गर्भवती महिलाओं को अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • अत्यधिक अलसी के सेवन से दस्त या पोषक तत्व को ना पचा पाने की समस्या उत्पन्न हो सकती है.
  • अलसी के बीज में उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है. गंभीर बीमारियों से पीड़ित को अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए. यह आपकी आंतों और पैरों के लिए हानिकारक हो सकता हैं.

अलसी की तासीर और कब खाएं (Alasi ke Gun)

अलसी की तासीर गर्म होती हैं. अलसी को खाने का सबसे सही समय सुबह का हैं. इसका सेवन खाली पेट ही करना चाहिए. अलसी को आप पाउडर के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं. आप अलसी का कई रूप में सेवन कर सकते हैं जैसे कि अलसी की रोटी, मिठाई, सूप, सलाद,पराठा, पूरी, ब्रेड आदि.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *