जानिए वास्तु के अनुसार घरों में कौनसा रंग होता है फलकारी | colour combination for home according to vastu in hindi

colour combination for home according to vastu in hindi निःसंदेह किसी ने सही कहा हैं हर की प्रत्तेक वस्तु का हमारे जीवन का असर होता हैं या आसन भाषा में कहे तो हर वस्तु एक हद तक हमारे जीवन पर प्रभाव डालती हैं. इसके बारे में जानकारी देने के लिए ही हमारे पूर्वजों ने वास्तुशास्त्र की रचना की हैं. वास्तुशास्त्र में जीवन की सूक्ष्म वस्तुओं का भी काफी विस्तार के बारे में ज्ञान दिया हुआ हैं. आज हम वास्तु से जुड़ी एक और बात के बारे में आपको बतलायेंगे.

दोस्तों वास्तुशास्त्र के अनुसार घरों की दीवारों का रंग हमारे विचारों और कार्यकौशलता को प्रभावित करता हैं. (vastu colours for kitchen) जिस तरह का रंग हमारे घरों में होता हैं उसी तरह दिन पर दिन हमारा स्वाभाव भी वैसा होते चले जाता हैं. उदाहरण के तौर पर यदि आपके घर में सफेद रंग को देखते ही मन को शान्ति मिलती है वही लाल रंग को देखकर मन में उतावलापन बढ़ जाता है और यदि लाल रंग का प्रयोग आपने अपने शयन कक्ष किया है तो आपको अपने बीवी से अकारण क्लेश होना स्वाभाविक है. इसी लिए यदि आप भी अपने घर में कलह से बचना चाहते हो तो परिस्थिति अनुरूप अपना रंग चुने.

रंगों का वास्तु शास्त्र में अत्यंत महत्व है. प्रकृति ने अनेक रंगों को सूचित किया है. प्रत्येक रंग का एक अलग ही प्रभाव और प्रकृति है. भवन के फर्श को बनवाते समय काले रंग के पत्थर का प्रयोग अधिक नहीं करना चाहिए ऐसा करने से राहु के प्रभाव में वृद्धि तथा चिंताओं में वृद्धि होती है तथा सफेद रंग का उपयोग भी दीवारों एवं फर्शों पर नहीं करना चाहिए यदि ऐसा होता है तो ग्रहस्थ जीवन में अत्यधिक महत्वकांक्षी हो जाएगा.

जो भविष्य में विलासिता एवं भोग के कारण गृहस्त सुख में बाधा देगा यदि शुक्र उच्च व बली हो तो सफेद रंग शुभ है और शुक्र शणि है तो सफेद रंग का उपयोग अशुभ है. यदि शुक्र उच्च बली केंद्र या त्रिकोण में हो या मित्र क्षेत्री हो तो भवन की साज-सज्जा पीले व शुभ रंग का उपयोग शुभ है. यदि गुरु अशुभ शत्रु क्षेत्री फोटो भवन की साज-सज्जा पीले वस्त्र व शुभ्र रंग का प्रयोग परिवार से विरोधाभास को जन्म देता है. गुरु शुक्र का संबंध होने पर भी पीले और सफेद रंग का प्रयोग अधिक आत्मक्लेश की स्थिति बनाता है.

प्रत्येक राशि एवं ग्रह का अपना एक रंग होता है जो जातक के लिए शुभ होता है प्रत्येक रंग अपने आप में प्रभावकारी होता है. (vastu colors for living room) भवन का रंग एवं आंतरिक गृह सज्जा अपनी राशि के अनुसार रंग से रंगवाये तो भी भवन में वास्तु दोष को दूर कर सकते हैं. जीवन को सुखमय बना सकते हैं.

वास्तुशास्त्र के अनुसार हर रंग का एक प्रभाव होता हैं. उसी प्रभाव के अनुसार अपने घर में रंग करवाए. चलिए यह बताते हैं वास्तु के अनुसार किस रंग का क्या प्रभाव होता हैं.

vastu colors for living room
vastu colors for living room

गहरा शुद्ध लाल

यह रंग प्यार का प्रतिक माना जाता हैं. इस रंग का घर में उपयोग करने से आपस में प्रेम बढता हैं. नवविवाहित जोड़े के कमरे में यह रंग आकर्षक माना जाता हैं.

हल्का बैंगनी

यह रंग वैभव के साथ विलासिता भी लाता हैं. इसलिए इस रंग का प्रयोग जरुर करे लेकिन ज्यादा नहीं. बच्चों के कमरे में यह रंग करवाने से थोड़ा बचे.

मध्यम लाल

यह रंग को वास्तु के अनुसार स्वास्थवर्धक और जीवंतता माना गया हैं. इसीलिए इसका उपयोग लिविंग एरिया या हॉल में किया जा सकता हैं.

मध्यम सुनहरा

जिस प्रकार सोना चमकता हैं उसी तरह घर में सुनहरा रंग करने से सम्पन्नता बनी रहती हैं.

गहरा भूरा

गहरा भूरा रंग वास्तु के अनुसार घरों में नहीं करना चाहिए. इसका उपयोग घर के बाहर रखी गयी वस्तुओं पर उत्तम माना गया हैं. जैसे घरों के बाहर रखे गमलों पर इसका प्रयोग कर सकते है.

तीव्र माध्यम पीला

यह रंग मानवता प्रेमी का प्रतिक हैं यदि आप शांत स्वभाव के व्यक्ति हैं तो यह रंग अपने घर में जरुर करवाएं.

गहरा हरा

यह रंग भोलेपन की निशानी है. इसका उपयोग आप बेडरूम या किचन में कर सकते हैं.

चमकदार लाल

चमकदार लाल रंग चाह और लालसा दिखाता हैं इसीलिए इसका उपयोग कम से कम करे.

गहरा पीला

गहरा पीला स्फूर्ति का प्रतिक हैं. यदि आप नौकरी पेशा व्यक्ति हैं तो यह रंग आपके जीवन में सदैव स्फूर्ति (एनर्जी) बनाये रखेगा.

गहरा नीला

गहरा नीला रंग इमानदारी और लगन का प्रतिक हैं.

मध्यम गुलाबी

मध्यम गुलाबी रंग कोमलताऔर स्वभाव की सरलता का प्रतिक हैं.

हल्का पीला

हल्का पीला रंग बुद्धिमता के लिए बड़ा गुणकारी हैं. बच्चो के पढाई करने वाले कक्ष में इसका प्रयोग करें. इससे उनके जीवन में सदैव उजास बनी रहेगी .

मध्यम हरा

मध्यम हरा खुलेपन और व्यवहारिकता का पर्याय हैं यदि आपके घर पर लोगों का आना जाना लगा रहता हैं तो यह रंग आपके लिए सर्वोतम हैं.

नारंगी

यह रंग लाल और पीले रंग के समन्वय से बनता है. यह रंग हमारे मन में भावनाओं और ऊर्जा का संचार करता है. इसके अलवा यह घर को एक पांरपरिक लुक देता है.

loading...
Shashank Sharma

Shashank Sharma

शशांक दिल से देशी वेबसाइट के कंटेंट हेड और SEO एक्सपर्ट हैं और कभी कभी इतिहास से जुडी जानकारी पर लिखना पसंद करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *